सांसदों और विधायकों
की उम्मीदवारी की उम्र
घटाने के लिए
एक अभियान -

आज, भारत में 67 करोड़ लोग 30 साल से कम उम्र के है—एक ऐसी युवा जनसंख्या जो अमेरिका की पूरा आबादी से भी दो गुना अधिक है | दुनिया की सबसे बड़ी युवा जनसंख्यों में से एक, हमारा देश एक अनोखी चनौती का सामना कर रहा है : राजनीतिक उम्मीदवारी के लिए भारी बाधाओं के कारण अपने राजनीतिक संस्थानों का अपरिवर्तन।

वोटदान: राष्ट्रपति या उपराष्ट्रपति प्रधानमंत्री/मुख्यमंत्री लोकसभा: राज्यसभा: पंचायत में उम्मीदवारी: नगरपालिक निगम UPSC की परीक्षा देना: शादी की उम्र: टेक्स देना: सैन्य-सेवा: सहमति की उम्र: शराब पीने की कानूनी उम्र: ड्राइविंग की कानूनी उम्र: हथियार रखना: अंग दान 35 25 20 30 18 35 25 30 21 21 21 18 21 16.5 18 18 18 21 18 उम्मीदवारी की उम्र वोटदान: राष्ट्रपति या उपराष्ट्रपति: प्रधानमंत्री/मुख्यमंत्री /लोकसभा: राज्यसभा: म्युनिसिपल निगम UPSC की परीक्षा देना: शादी की उम्र: टेक्स देना: पंचायत: सैन्य: सहमति की उम्र: शराब: ड्राइविंग: हथियार रखना: अंग दान 35 25 20 30 18 35 25 30 21 21 21 18 21 16.5 18 18 18 21 18 उम्मीदारी की उम्र


भारतीय राजनीति की उम्मीदवारी की उम्र को इतना ऊंचा बनाने के लिए कोई वैज्ञानिक या संवैधानिक कारण नहीं है – इसलिए हम यह सवाल पूछ रहे है: 25 क्यों?




भारत की जनसँख्या
जवान है। हमारे प्रतिनिधि
नहीं है।

भारत की जनसँख्या की मध्य उम्र और उसके राजनीतिक प्रतिनिधियों की मध्य उम्र के बीच एक बहुत विशाल अंतर है।

60 20 0 40 मध्य उम्र जनसँख्या और लोकसभा जनसँख्या लोकसभा 57 28.4

हमारे देश की आधी से अधिक आबादी 3o साल की उम्र से कम है, लेकिन फिर भी हमारे कोई भी राजनीतिक प्रतिनिधि इस उम्र वर्ग के नहीं है।

65% 35% उम्र 30 से कम उम्र 30 से अधिक

युवा जनसँख्या

उम्र 30 से कम उम्र 30 से अधिक 100% 0%

लोकसभा में प्रतिनिधित्व


आज, भारत की युवा देश के आर्थिक विकास को आगे बढ़ा रही हैं, लेकिन उन्हें कोई भी आर्थिक निर्णय लेने में प्रतिनिधित्व नहीं मिलता है।

65% 34% उम्र 30 से कम उम्र 30 से अधिक

युवा अर्थव्यवस्था

उम्र 30 से कम उम्र 30 से अधिक 100% 0%

संसद के सदस्य

युवा विकास इंडेक्स में भारत 181 देशों में 122वे स्थान पर है। यह स्थान हमारे देश के युवाओं की शिक्षा, रोज़गार, स्वास्थ्य, समानता और समावेश, शांति और सुरक्षा, राजनीतिक एवं नागरिक भागीदारी के लिए चिंता की कमी का संकेत है।

युवा विकास सूचकांक। सिंगापुर 1st भारत 122nd 181 देशों

यहां तक ​​कि जब दूसरे अन्य देशों की आबादी उम्र में अधिक होती है, वे फिर भी अपनी राजनीतिक प्रक्रियाओं में युवा सदस्यों की भागीदारी के लिए जगह बनाते हैं।

कनाडा जनसंख्या की माध्यम उम्र 37 18 उम्मीदारी की उम्र अमेरिका जनसंख्या की माध्यम उम्र 38 18 or 21 उम्मीदारी की उम्र यूनाइटेड किंगडम जनसंख्या की माध्यम उम्र 40 उम्मीदारी की उम्र 18 फ़्रांस जनसंख्या की माध्यम उम्र 42 उम्मीदारी की उम्र 18 स्विट्ज़रलैंड जनसंख्या की माध्यम उम्र 43 उम्मीदारी की उम्र 18

हमारा प्लान!

उम्मीदवारी की उम्र कम करना एक लोकतांत्रिक ज़रुरत है।

हम इसे कैसे करेंगे?

1 .

सार्वजानिक अभियान

देशभर के स्कूलों, कॉलेजों, कंपनियों एवं संस्थाओं के साथ, हम इंटरैक्टिव वर्क शॉप के माध्यम से संगठन की प्रक्रिया शुरू करेंगे। इससे हमारे संवैधानिक संशोधन की लिए एक निरंतर गति बनी रहेगी।

2 .

याचिका

हमें सत्ता में बैठे लोगों को यह दिखाने की ज़रूरत है कि उम्मीदवारी की उम्र कम करने का आह्वान ज़ोरदार है – 25 लाख हस्ताक्षरों के लक्ष्य के साथ, हम हमारी #25क्यों याचिका प्रमुख स्टेकहोल्डर्स को प्रस्तुत करना चाहते हैं, क्योंकि वह हमारी आवाज़ को वास्तविक बदलाव में बदल सकते हैं।

3 .

लॉबिंग

हमने राजनैतिक स्पेक्ट्रम में आने वाले सभ राजनेताओं, अधिकारियों, वकीलों और जन प्रतिनिधियों के साथ काम करने का उद्देश्य रखा है | भारतीय राजनीति को युवाओं के लिए और सुलभ बनाने की आवश्यकता एक क्रॉस-पार्टी चिंता है – हमें इस संवैधानिक संशोधन को सुनिश्चित करने के लिए जनता का समर्थन प्राप्त करना होगा, जिसके लिए हम विभिन्न व्यक्तियों और संस्थानों को सक्रिय रूप से सम्मिलित करना चाहते है ।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

राष्ट्र की राजनीतिक प्रक्रियाओं से भारत की युवा का अपवाद, लोकतांत्रिक अपवाद में परिणत होता है। संसद में युवा के प्रतिनिधित्व की कमी के कारण होने वाली कुछ समस्याएं यहां दी गई हैं:

प्रगतिशील चिंताओं को उपेक्षित किया जाता है | युवा की मुख्य चिंताएं और देश की महत्वपूर्ण नीतिगत सुधारों में कई समानताएं है – विशेष रूप से शिक्षा, अर्थव्यवस्था, टेक्नोलॉजी और पर्यावरण के क्षेत्रों में। भले ही इनका सबसे बड़ा प्रभाव युवा पर पड़ता है, उनकी आवाज़ों की कमी के कारण इन मुद्दों पर सहित और समग्र रूप से चर्चा नहीं की जाती है।

युवा के लिए, राजनीति को समझना बहुत कठिन है। जभ एक इतनी महत्वपूर्ण और बड़ी जनसँख्या को संस्थागत राजनीति से बहार रखा जाता है, हमें इस विषय में एक दैनिकअभ्यास के रूप में निवेश की कमी दीखती है।

राजनीति को व्यर्थ रूप में देखा जाता है। जभ युवाओ के लिए उपलभ्द राजनीतिक चैनल केवल अतिरिक्त-संस्थागत साधनों (जैसे विरोध) के होते है, प्रमुख मुद्दों के लिए राजनीतिक निर्णय सबसे सही समाधान नहीं मने जाते है।

जवाबदेही की गारेंटी नहीं है। जब राजनीति में प्रमुख पदधारी युवाओं को एक विशिष्ट और महत्वपूर्ण राजनीतिक जनसांख्यिकी के रूप में नहीं देखते हैं, लोकतांत्रिक अनुबंध टूट जाता है – युवा मतदाताओं को लगातार अपने वोट करने के अधिकार से वंचित किया जाता है।

भारत के युवाओं और राजनीतिक संस्थानों के बीच विश्वास की कमी बढ़ती है। युवा खुद को, अपनी आकांक्षाओं, मांगों, चिंताओं और पहचान को अपने चुने हुए प्रतिनिधियों में नहीं देखते हैं, जिससे वे राजनीतिक प्रथाओं से अलग हो जाते हैं। सहभागी राजनीति के बिना, ऐसे राजनीतिक निर्णय लिए जाते हैं जो समग्र रूप से राष्ट्र की आवश्यकता को नहीं दर्शाते हैं।

अगर हम इसे यूएनडीपी के युवा राजनीतिक भागीदारी बढ़ाने के लिए गुड प्रैक्टिस गाइड से देखें: “निर्णय लेने की प्रक्रयाओं में सार्थक रूप में भाग न लेने के कारण, युवा पुरुष और महिलाएं अपने समाज और समुदायों में अपने आप को शामिल नहीं महसूस करते हैं। युवाओं और संस्थानों के बीच भागीदारी और अधिक विश्वास, एवं दोनों की अधिककपैसिटी बिल्डिंग की आवश्यकता पर ज़्यादा ध्यान दिया गया है।

हाँ! आपका हमारी याचिका को अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म और व्यक्तिगत नेटवर्क पर साझा करना हमारे लक्ष्य की ओर बढ़ती सहमति के लिए महत्वपूर्ण साबित होगा। आप हमारे टेम्पलेट का उपयोग कर सकते है, या इस अभियान में जुड़ने के लिए अपने कारण के बारे में भी लिख सकते है।

आप हमें अपने स्कूल, कॉलेज या रोजगार संस्थान में एक वर्कशॉप करने के लिए आमंत्रित करके भी हमारे प्रयास का हिस्सा बन सकते हैं – बस इस फॉर्म को भरे, और हम 3 दिन के भीतर आपसे संपर्क करेंगे।

हम बेसब्री से आपका इंतज़ार कर रहे है – हमारी चल रही पहलों को आगे बढ़ाएं और युवा अधिकारों एवं प्रतिनिधित्व के लिए राष्ट्रीय अभियान में आज ही शामिल हुएं! आप हमारी वेबसाइट पर वाई.आई.एफ के प्रोजेक्ट्स के बारे में पढ़ सकते हैं और इस फॉर्म को भरके हमारे साथ जुड़ कर सकते हैं।

इतना बड़ा बदलाव
आपकी आवाज के बिना
मुमकिन नहीं है।

आज ही #25क्यों याचिका पर हस्ताक्षर करें — और  30387  आवाजों से जुड़ें जो मानती हैं कि हमारे राष्ट्र और उसके राजनीतिक प्रतिनिधियों के बीच के अंतर को ख़तम करने का समय आ गया है।

a cute kitten